आपकी प्राइवेसी को सुरक्षित रखने के लिए पर्याप्त नहीं हैं ‘वाट्सएप’ की पॉलिसी

0
294

नई दिल्ली: वाट्सएप अपने दुनिया भर के करोड़ों यूजर्स के लिए एंड-टू-एंड एनक्रिप्सन को बाई डिफाल्ट अपनाने के बावजूद इंस्टैंट मैसेजिंग एप की नीतियां इतनी कमजोर हैं कि वह अपने यूजर्स की प्राइवेसी को सरकारों से नहीं बचा सकती है. ये बात डिजिटल अधिकार समूह की नई रिपोर्ट में कही गई है. इलेक्ट्रॉनिक फ्रंटियर फाउंडेशन की ‘कौन आपके पीछे है’ शीर्षक वाली सालाना रिपोर्ट में कहा गया कि यहां तक कि एपल, फेसबुक और गूगल अपने यूजर्स की प्राइवेसी के लिए पूरी तरह से खड़े हो सकते हैं. इस हफ्ते जारी इस रिपोर्ट में बताया गया, “वाट्सएप स्पष्ट रूप से यह स्पष्ट नहीं करता है कि यह अपने यूजर्स के आंकड़ों तक तीसरे पक्ष की पहुंच को रोकता है, ना ही यह कहता है कि तीसरे पक्षों को वाट्स एप के यूजर डेटा के निगरानी के उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल करने से मना किया गया है.” इलेक्ट्रॉनिक फ्रंटियर फाउंडेशन (ईएफएफ) ने अभूतपूर्व निगरानी के इस युग में कई प्रौद्योगिकी कंपनियों की छानबीन की है कि वे अपनी यूजर्स नीति के बारे में क्या कहते हैं. भारत में वाट्सएप के 20 करोड़ यूजर्स हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here