कैग रिपोर्ट का दावा इंसानों के खाने लायक नहीं है रेलवे का खाना

0
313

अगर आप रेलवे का खाना खाते हैं तो आपको सतर्क होने की जरूरत है। नियंत्रक व महालेखा परीक्षक की एक रिपोर्ट में ट्रेनों में मिलने वाले खाने की क्वालिटी के बारे में विस्तार से बताया गया है। कैग इस रिपोर्ट को शुक्रवार को संसद में पेश करेगा। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि रेलवे द्वारा दिया जा रहा खाना इंसानों के खाने के लायक नहीं है। इसके साथ ही रिपोर्ट में रेलवे स्टेशनों पर मिलने वाले बोतल बंद पानी भी अनअधिकृत ब्रांड का है। वहीं पैकिंग वाले सामान एक्सपायरी डेट के बाद भी बेचे जा रहे हैं। ऑडिट में पाया गया है कि रेलवे की केटरिंग पॉलिसी में बदलाव के कारण कैटरिंग सर्विस के प्रबंधन में भी दिक्कते आ रही हैं और इस वजह से यात्रियों को सही सुविधा नहीं मिल पा रही है। साथ ही जांच में पता चला है कि साफ-सफाई का भी ख्याल नहीं रखा जाता है। वहीं यात्रियों को उनके खाने का बिल नहीं दिया जाता है, जबकि खाने की क्वालिटी में भी बहुत कमियां हैं। रेलवे और कैग टीम ने 74 स्टेशन और 80 ट्रेनों में ज्वाइट जांच ऑपरेशन चलाया। जिसमें स्टेशन और ट्रेन में केटरिंग यूनिट्स में साफ सफाई की कमी पाई गई। साफ-सफाई का बिल्कुल भी ख्याल नहीं रखा गया। एक व्यक्ति ने बताया कि खाना बनाने के दौरान खुले पानी का इस्तेमाल किया जा रहा था, वहीं कचरे के डिब्बे भी खुले हुए थे। खाने को कड़ी-मकौड़े और धूल से बचाने के लिए ढक्का नहीं गया था।यही नहीं ट्रेन में कॉक्रोच और चूहे भी थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here