भारत जैसे देशों के साथ काम करना अच्छी बात: ट्रंप

0
29

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बाकी देशों को लेकर उनके रवैये में पिछले कुछ दिनों से ही नरमी देखने को मिल रही है. डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि भारत, रूस और चीन जैसे देशों के साथ काम करना काफी अच्छी बात है ना कि बुरी. उनके इस बयान को विश्व शांति के लिहाज से एक शुभ संकेत माना जा सकता है. क्योंकि ट्रंप चाहे उत्तर कोरिया हो या फिर H1B वीजा, रुस हो या चीन, ट्रंप अपने रुख में पिछले कुछ दिनों से नरमी बरत रहें हैं. आपको बता दें कि ट्रंप नॉर्वे के प्रधानमंत्री एर्ना सोलबर्ग के साथ व्हाइट हाउस में संयुक्त रूप से हो रहे संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. यह काँफ्रेंस ट्रंप की रूस के साथ संबंध सुधारने की इच्छा को लेकर हो रही आलोचना पर प्रतिक्रिया दे रहे थे. उन्होंने कहा, ‘‘रूस या चीन या भारत या किसी भी अन्य देशों के साथ काम करना बहुत अच्छी बात है. यह बुरी बात नहीं है.’’ ट्रंप ने कहा कि उनकी नजर सेना को मजबूत बनाने, बड़ी मात्रा में तेल और गैस तथा ऊर्जा का भंडार करने पर है लेकिन रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को यह पसंद नहीं आ सकता. उन्होंने आगे यह भी कहा कि यह बहुत ही बेहतर होगा कि उत्तर कोरिया से भी निपटा जाए जहां पर अमेरिका को अभी दिक्कत है. बता दें कि पिछले हफ्ते अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि नॉर्थ कोरिया के लीडर किम जोंग उन से वह फोन से बात करने को ‘बिल्कुल’ तैयार हैं. उन्होंने उम्मीद जताई कि नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया के बीच होने जा रही बातचीत का कुछ सकारात्मक नतीजा निकलेगा. उन्होंने अब कहा, ‘‘यह मेरी दिक्कत नहीं होनी चाहिए थी. इसे वर्षों पहले ही हल किया जाना चाहिए था जब यह कम खतरनाक थी. लेकिन यह समस्या मुझे दी गई.’’ ट्रंप ने पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन को इसके लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि उन्होंने सेना को मजबूत नहीं बनाया. आपको बता दें कि हिलेरी भी पिछले राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप की प्रतिद्वंदि थीं. डोनाल्ड ट्रंप ने ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए डेमोक्रेट की हिलेरी क्लिंटन को 218 के मुकाबले 276 वोटों से हराया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here