पंजाब: प्रदर्शन कर रहे छात्रों के बीच DSP ने की खुदकुशी

0
93

पंजाब के फरीदकोट जिले में छात्रों के प्रदर्शन के दौरान पंजाब पुलिस के एक अधिकारी ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली. पुलिस का कहना है प्रदर्शनकारियों द्वारा निष्ठा पर सवाल उठाए जाने के बाद अधिकारी ने आहत होकर यह कदम उठाया है. फरीदकोट के SSP नानक सिंह ने बताया कि आत्महत्या करने वाले DSP की पहचान बलजिंदर सिंह संधू के रूप में की गई है. वह 50 वर्ष के थे. खुदकुशी की कोशिश में संधू की बंदूक से चली गोली से एक अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हो गया. सिंह ने बताया कि संधू के सिर में लगी गोली आर पार होकर उनके गनमैन की आंख में जा लगी, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया है. यह हादसा उस वक्त हुअ जब छात्रों का एक समूह कॉलेज परिसर में धरना दा रहा था. छात्रों का यह विरोध प्रदर्शन कुछ दिन पहले कुछ छात्रों की कथित रूप से जमकर पिटाई और इलाके में पुलिस की सख्ती के खिलाफ था. प्रदर्शनकारी छात्र SHO के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे. अधिकारी ने बताया कि प्रदर्शनकारी छात्रों को शांत करने DSP संधू जब मौके पर पहुंचे तो उनमें से कुछ छात्रों ने उनकी निष्ठा पर सवाल उठाए और कहा कि वह छात्रों के दूसरे समूह की मदद कर रहे हैं, जो धरना नहीं दे रहे हैं. राज्य के पुलिस अधिकारियों ने हालांकि संधू के खुदकुशी करने पर संदेह जताया है. उनका कहना है कि जिन परिस्थितियों में खुदकुशी की गई, वह संदेह पैदा करने वाला है. एक प्रत्यक्षदर्शी ने वहीं नाम उजागर न करने की शर्त पर आजतक को बताया कि छात्रनेता गुरजिंदर सिंह की अगुवाई में इंकलाबी नौजवान विद्यार्थी मंच के कार्यकर्ता पुलिस की कार्यवाही के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. इसी बीच छात्रों का विरोधी गुट भी धरना स्थल पर पहुंच गया और दोनों गुटों में मारपीट शुरू हो गई. मौके पर मौजूद DSP संधू ने छात्रों से मारपीट न करने की अपील की. उन्होंने हाथ में अपनी सर्विस रिवॉल्वर ले रखी थी. तभी डीएसपी संधू की रिवॉल्वर चली और उनकी कनपटी को पार करती हुई पास ही खड़े गनमैन को जा लगी. SSP नानक सिंह के मुताबिक, संधू और उनके गनमैन को घायल अवस्था में स्थानीय गुरू गोविंद सिंह मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. अधिकारी ने बताया कि इस संबंध में आत्महत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है. पटियाला के रहने वाले DSP संधू के परिवार में पत्नी के अलावा 21 साल का एक बेटा है. इस बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए कहा है कि मामले की पूरी जांच की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here