भारत के पास इतिहास रचने का मौका, पिंक वनडे में बदलेगी SA की किस्मत?

0
73

विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम ने बीते साल कई ऐसे रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं, जिन्हें अतीत में कोई भी भारतीय टीम हासिल नहीं कर पाई. अब यह टीम एक और इतिहास रचने की दहलीज पर खड़ी है. भारत ने साउथ अफ्रीका में अभी तक कोई भी वनडे सीरीज नहीं जीती है. आज होने वाले मैच में भारत के पास पहली बार अफ्रीका में सीरीज जीतने का मौका है. छह वनडे मैचों की सीरीज के शुरुआती तीन मैच जीतकर भारत ने 3-0 की बढ़त ले ली है. अब वह सीरीज हार नहीं सकता. सीरीज का चौथा वनडे आज वांडरर्स मैदान पर खेला जाएगा. इस मैच में अगर भारत को जीत मिलती है, तो वह सीरीज अपने नाम करने और इतिहास रचने में सफल होगा. फॉर्म में है विराट ब्रिगेड ‘विराट ब्रिगेड’ की मौजूदा फॉर्म को देखकर यह लग रहा है कि चौथा मैच जीत यह टीम एक और इतिहास अपने नाम करेगी. कप्तान कोहली खुद शानदार फॉर्म में रहते हुए टीम का नेतृत्व कर रहे हैं और वह अभी तक इस सीरीज में दो शतक लगा चुके हैं. शिखर धवन भी बल्ले से रन बना रहे हैं. भारत के लिए चिंता का सबब अगर कोई है तो ओपनिंग बल्लेबाज रोहित शर्मा की फॉर्म. आखिर क्यों पिंक वनडे में टीम इंडिया पर कहर बनकर टूटेंगे डिविलियर्स मिडिल ऑर्डर को अभी तक सीरीज में ज्यादा मौका नहीं मिला है. हालांकि महेंद्र सिंह धोनी, केदार जाधव, हार्दिक पंड्या ने तीसरे वनडे में बल्लेबाजी की थी, लेकिन कुछ खास प्रभाव नहीं छोड़ा था. हालांकि, सभी इन खिलाड़ियों की काबिलियत से वाकिफ हैं. लय में हैं गेंदबाज इस दौरे पर भारत की ताकत पहली बार उसकी गेंदबाजी बनकर उभरी है. टेस्ट सीरीज में तेज गेंदबाजों ने अपना जलवा दिखाया तो वहीं वनडे में स्पिनर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की जोड़ी ने मेजबानों की नाक में दम कर रखा है. बीते तीन वनडे मैचों में कुलदीप और चहल ने दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों को काफी परेशान किया व भारत की जीत का अहम कारण बने. चौथे मैच में भी मेजबानों के लिए इन दोनों से निपटना खासी चुनौतीपूर्ण रहेगा. तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह भी वांडरर्स की पिच पर कमाल दिखा सकते हैं. पिंक जर्सी में नहीं हारी है साउथ अफ्रीका टीम एजेंसी के मुताबिक चौथा मैच साउथ अफ्रीका के लिए अलग महत्व रखता है. यह पिंक वनडे होगा जो स्तन कैंसर के प्रति जागरूकता के लिए खेला जाता है. पहला पिंक वनडे साल 2011 में खेला गया था और यह छठा पिंक वनडे होगा. पिंक जर्सी पहनने के बाद साउथ अफ्रीकी टीम कोई भी मैच नहीं हारी है. उसे उम्मीद है कि वह इस बार भी पिंक जर्सी में जीत की राह पर लौटेगी. तीन वनडे मैचों में बाहर बैठने वाले एबी डिविलियर्स इस मैच में उतरेंगे. वह उंगली में चोट के बाद वापसी कर रहे हैं. डिविलियर्स के लिए लकी है पिंक वनडे आपको बता दें कि पिंक वनडे में एबी डिविलियर्स का रिकॉर्ड बेहद शानदार है. डिविलियर्स ने साल 2015 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 31 गेंद में शतक जड़ा था, यह वनडे में सबसे तेज शतक का वर्ल्ड रिकॉर्ड है. उस मैच में उन्होंने कुल 44 गेंद में 149 रन बनाए थे. भारत के खिलाफ साल 2013 में डिविलियर्स ने 47 गेंदों में 77 रन बनाए थे. टीमें: भारत: विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, महेंद्र सिंह धोनी, केदार जाधव, हार्दिक पंड्या, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह. साउथ अफ्रीका: हाशिम अमला, एडेन मार्करम (कप्तान), एबी डिविलियर्स, जेपी डुमिनी, हेइनरिक क्लासेन (विकेटकीपर), डेविड मिलर, क्रिस मॉरिस, कैगिसो रबाडा, लुंगी नगीदी, फेहलुकवायो और इमरान ताहिर.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here