वनडे में फतह के बाद अब भारतीय महिला टीम की निगाहें टी-20 सीरीज पर

0
87

भारतीय महिला क्रिकेट टीम को भले ही वनडे सीरीज के अंतिम मैच में करीबी हार मिली हो लेकिन इससे उनके आत्मविश्वास में जरा भी कमी नहीं आई है और अब उसकी निगाहें मंगलवार से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुरू होने वाली पांच मैचों की टी20 सीरीज जीतने पर लगी है. पहले दो वनडे में शानदार जीत के बाद भारतीय महिला टीम को पिछले शुक्रवार को हुए तीसरे वनडे में सात विकेट से हार मिली. वनडे के बाद टी20 की बारी इस हार से हालांकि कोई फर्क नहीं पड़ा क्योंकि भारतीय टीम ने तीन मैचों की वनडे सीरीज अपने नाम कर ली. हालांकि यह हार टीम के लिए झटका थी लेकिन वह इस निराशा को पीछे छोड़ना चाहेगी और टी20 में अपना अभियान जीत से शुरू करना चाहेगी. मेहमान टीम पहले दो वनडे में बेहतरीन थी, जिसमें उसने 88 और 178 रन की शानदार जीत दर्ज की. मिताली राज की अगुवाई में टीम वनडे सीरीज में खेली थी लेकिन टी20 में टीम की जिम्मेदारी हरमनप्रीत कौर के कंधों पर होगी. वहीं फार्म में चल रही स्मृति मंधाना उप कप्तान होंगी. दीप्ति शर्मा और वेदा कृष्णमूर्ति पर होंगी नजरें टी20 विशेषज्ञ अनुजा पाटिल और पदार्पण कर रही आल राउंडर राधा यावद तथा विकेटकीपर नुजहत परवीन के शामिल होने से भी टीम मजबूत होगी. टी20 टीम में 17 वर्षीय मुंबई की खिलाड़ी जेमिमा रोड्रिगेज शामिल है जो अंडर-19 मैच में 163 गेंद में 202 रन बनाकर सुर्खियों में आयी थीं. अंतिम वनडे में असफलता के बाद भारतीय टीम मंधाना पर काफी निर्भर होगी कि वह पारी की मजबूत शुरूआत कराएं. दीप्ति शर्मा और वेदा कृष्णमूर्ति भी छोटे प्रारूप में अपनी अच्छी फार्म जारी रखना चाहेंगी जिन्होंने अंतिम वनडे में क्रमश: 79 और 56 रन बनाए. भारत बनाम साउथ अफ्रीका भारत की सफलता कप्तान हरमनप्रीत और मिताली राज के योगदान पर काफी निर्भर करती है. गेंदबाजी में अनुभवी झूलन गोस्वामी के अंतिम एकादश में लौटने की उम्मीद है जिन्हें तीसरे वनडे में आराम दिया गया था. झूलन की अनुपस्थिति में भारतीय गेंदबाजी आक्रमण में पैनेपन की कमी थी जिससे दक्षिण अफ्रीका की सांत्वना जीत में मिगनोन डु प्रीज ने 90 रन की शानदार पारी खेली थी. सलामी बल्लेबाज लौरा वोलवार्ड (59) ने भी अच्छी भागीदारी कर टीम के लिये अच्छी शुरूआत कराई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here