प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूटकर रोए स्मिथ, कहा- जिंदगी भर इस गलती का अफसोस रहेगा

0
50

ऑस्ट्रेलिया के बर्खास्त कप्तान स्टीव स्मिथ ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए टेंपरिंग को लेकर अपनी गलतियों पर माफी मांगी. प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूटकर रोते हुए स्मिथ ने माफी मांगी और कहा कि ‘इस गलती का पछतावा जिंदगी भर रहेगा.’ स्मिथ ने कहा, कि ‘वे इसके लिए कोई भी सजा भुगतने को तैयार हैं. अगर दूसरों के लिए कोई सबक हो सकता है, तो मुझे आशा है कि मैं परिवर्तन के लिए एक बल हो सकता हूं.’ स्मिथ ने कहा, ‘मैं आशा करता हूं कि समय के साथ मैं अपना आदर वापस पा सकता हूं. क्रिकेट दुनिया का सबसे बड़ा गेम है, यह मेरा जीवन रहा है और मुझे आशा है कि यह फिर से हो सकता है.’ स्टीव स्मिथ ने कहा, ‘मैं इस घटना की पूरी जिम्मेदारी लेता हूं. मैं बिल्कुल निराश हूं, यह मेरे नेतृत्व की विफलता है. मैंने गलत फैसले लेने की गंभीर गलती की है. मैं पूरी जिम्मेदारी लेता हूं.’ प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्टीव स्मिथ कई बार रो पड़े. स्मिथ ने कहा, ‘अच्छे लोग भी गलती करते हैं. मैंने भी बड़ी गलती की है कि मैंने ये सब होने दिया. मैंने मेरी तरफ से फैसले लेने में गलती की. मैं शर्मिदा हूं और दिल से माफी मांगता हूं. उम्मीद है कि मैं इस नुकसान की भरपाई कर पाऊंगा.’ स्मिथ ने रोते हुए कहा, ‘मेरी जानकारी में यह पहली बार हुआ है. मैं आपको इस बात से आश्वस्त कर सकता हूं कि यह दोबारा नहीं होगा. मैं ऑस्ट्रेलियाई टीम का कप्तान था. यह सब मेरे सामने हुआ. मैं इस घटना की पूरी जिम्मेदारी लेता हूं.’ प्रेस कॉन्फ्रेंस खत्म करने से पहले स्मिथ ने कहा, ‘मैं दिल से शर्मिंदा हूं मैं क्रिकेट को प्यार करता हूं. मैं युवा खिलाड़ियों को इस खेल के लिए प्रेरित करना चाहता हूं. मैं चाहता हूं कि बच्चे इस खेल को खेलें. यह घटना बुहत दुख देने वाली है, काफी तकलीफ देती है. मैंने ऑस्ट्रेलियाई प्रशंसकों को जो दर्द दिया उसके लिए मांफी मांगता हूं.’ ANI ✔ @ANI #WATCH Steve Smith says, ‘there was a failure of leadership, of my leadership’, breaks down as he addresses the media in Sydney. #BallTamperingRow 2:25 PM – Mar 29, 2018 337 267 people are talking about this Twitter Ads info and privacy इयान चैपल ने स्मिथ पर दिया था ये बयान ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल को नहीं लगता कि स्टीव स्मिथ को दोबारा राष्ट्रीय टीम की अगुवाई का मौका मिलेगा और उन्होंने कहा कि देश के क्रिकेट बोर्ड ने उन्हें और डेविड वॉर्नर को 12 महीने के लिए प्रतिबंधित करके सही फैसला किया. चैपल ने ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ से कहा, ‘मैं उन दोनों (स्मिथ और वॉर्नर) में से किसी को दोबारा ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी करते हुए नहीं देखता. कप्तान के रूप में सबसे महत्वपूर्ण चीज में से एक यह है कि आप टीम के अपने साथियों का सम्मान हासिल करो.’ उन्होंने कहा, ‘केपटाउन में जिस तरीके से बेवकूफाना हरकत की गई, मुझे नहीं लगता कि उन दोनों में से कोई दोबारा टीम के साथियों का अधिक सम्मान हासिल कर पाएगा. इसलिए मुझे लगता है कि उन दोनों में से किसी के ऑस्ट्रेलिया के कप्तानी करने की बात को भूल जाइए.’ बैन खत्म होने के बाद भी 1 साल तक कप्तान नहीं बन सकते स्मिथ स्मिथ और बेनकॉफ्ट अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट से संबंधित निलंबन खत्म होने के बाद कम से कम 12 महीने तक कप्तान नहीं बन सकते. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के अध्यक्ष डेविड पीवेर ने कहा, ‘भविष्य में इन्हें कप्तानी सौंपने के बारे में तभी विचार किया जाएगा, जब प्रशंसक, जनता और अधिकारी इन्हें माफ कर दें.’ अनुच्छेद 2.3.5 के उल्लंघन पर स्मिथ, वॉर्नर और बेनक्रॉफ्ट को मिली यह सजा क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की आचार संहिता के तहत स्मिथ को इस बात का दोषी पाया गया कि उसे कृत्रिम तरीके से गेंद की दशा बदलने की योजना की पहले से जानकारी थी और उसने इसे रोकने के लिए कुछ नहीं किया. स्मिथ पर मैच अधिकारियों और अन्य को गुमराह करने की कोशिश करने का भी आरोप है. इस सजा के अलावा तीनों खिलाड़ियों को कम्युनिटी क्रिकेट में 100 घंटे तक स्वैच्छिक सेवा भी करनी होगी. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के सीईओ जेम्स सदरलैंड ने कहा, ‘मैं इस सजा से संतुष्ट हूं क्योंकि क्रिकेट की साख बनाए रखने के लिए यह जरूरी था. इससे ये सभी कड़े सबक सीखेंगे.’ बता दें कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के इस फैसले के बाद स्मिथ और वॉर्नर इस साल आईपीएल में भी नहीं खेल पाएंगे. तीनों खिलाड़ियों को सजा के खिलाफ अपील करने के लिए एक हफ्ते का समय दिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here