CBSE पेपर लीकः कोचिंग सेंटर का संचालक हिरासत में, पूछताछ जारी

0
37

सीबीएसई पेपर लीक मामले में क्राइम ब्रांच ने दिल्ली के राजेंद्र नगर स्थित एक कोचिंग सेंटर के संचालक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. उसका नाम विक्की बताया जा रहा है. पुलिस लगातार उससे पूछताछ कर रही है. इसके अलावा दस छात्र भी पुलिस के रडार पर हैं. विक्की विद्या कोचिंग सेंटर का संचालक है. वह खुद भी गणित और अर्थशास्त्र पढ़ाता है. विक्की को ही इस पेपर लीक मामले का मास्टरमांइड माना जा रहा है. इसी दौरान पुलिस को ऐसे दस छात्रों के बारे में जानकारी मिली है, जिन्हें व्हाट्सएप के जरिए सबसे पहले पेपर भेजा गया था. क्राइम ब्रांच की टीम उन छात्रों के नंबरों का पता लगाने की कोशिश में जुटी है. जिनके माध्यम से पेपर बांटा गया. बताया जा रहा है कि पेपर लीक मामले में हर छात्र से हजारों रुपये की रकम वसूली गई. विक्की के बारे में जानकारी मिली है कि उसने दिल्ली विश्वविद्यालय से 1996 में बी.कॉम किया था. तभी से वह दिल्ली में शिक्षा क्षेत्र में सक्रीय है. इससे पहले बीती रात दिल्ली में सीबीएसई पेपर लीक मामले में क्राइम ब्रांच ने कई स्थानों पर छापेमारी की. उधर, इस मामले में ऐसे कुछ छात्रों के शामिल होने का शक जाहिर किया जा रहा है, जो पढ़ाई में कमजोर हैं. दिल्ली क्राइम ब्रांच के डीसीपी के मुताबिक सीबीएसई का पेपर वाट्सएप पर लीक हुआ है. दिल्ली और आसपास के इलाकों में छापेमारी की जा रही है. कुछ लोगों को हमने ज़ीरो इन किया है. डीसीपी ने बताया कि सीबीएसई ने जो शिकायत दी है, उसमें राजेंद्र नगर के विद्या कोचिंग सेंटर जिक्र था. जहां से संचालक विक्की को हिरासत में लिया गया. पेपर लीक मामले के पूरे लिंक को जोड़ने के लिए दिल्ली पुलिस उन छात्रों के मोबाइल नंबरों और कंप्यूटर्स के आईपी एड्रेस का पता लगा रही है, जिनके पास लीक पेपर पहले से मौजूद था. पुलिस आईपी एड्रेस के जरिये उस कंप्यूटर या मोबाइल तक पहुंचने की कोशिश में भी है, जहां से सबसे पहले पेपर को सर्कुलेट किया गया था. पुलिस के मुताबिक क्राइम ब्रांच की 10 टीमों को इस पेपर लीक मामले की जांच में लगाया गया है. ये टीमें बुधवार शाम से दिल्ली और आसपास के इलाकों में छापेमारी कर रही हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here