अखिलेश का हमला- जांच के नाम पर विरोधियों को परेशान कर रही है योगी सरकार

0
41

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को राज्य की भाजपा सरकार पर अपने राजनीतिक विरोधियों को परेशान करने का आरोप लगाया है. अखिलेश ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार अपने विरोधियों को परेशान करना चाहती है. इसी के तहत पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान को जल निगम की भर्तियों के मामले में जान-बूझकर परेशान किया जा रहा है. यह सरकार नौकरियां नहीं दे रही है, बल्कि जो नौकरियां दी गई है उन पर भी वह सवाल उठा रही है. उन्होंने कहा कि चाहे पिछली सरकार द्वारा बनवाया गया आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे हो या फिर गोमती रिवरफ्रंट, सरकार सिर्फ बदनाम करने की कोशिश कर रही है. विभिन्न जांच एजेंसियों के जरिए विपक्ष के लोगों को अपमानित किया जा रहा है, मगर यह भी ध्यान रहे कि ‘जो बोओगे वही आपको काटना भी पड़ेगा.’ साथ ही सपा प्रमुख ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गाजियाबाद में पूर्ववर्ती सपा सरकार द्वारा बनवाई गई उस एलिवेटेड सड़क का उद्घाटन किया, जिसका उद्घाटन पहले ही हो चुका था. साथ ही अपने भाषण में हम पर परिवारवाद का आरोप भी लगा दिया. मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि उस सड़क में ‘यादव लेन’ कौन सी है. उन्होंने कहा, ‘हम स्वीकार करते हैं कि हम परिवारवाद के कारण यहां खड़े हैं लेकिन जनता के सामने हमने परीक्षाएं भी दी हैं. आज आप (योगी) जहां हैं, अगर परिवारवाद ना होता तो क्या आप यहां होते?’ इन दिनों सपा के साथ नजदीकी बढ़ा चुकी बसपा मुखिया मायावती को भाजपानीत राजग में शामिल होने का न्यौता देने वाले केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास आठवले के बयान के बारे में पूछे जाने पर अखिलेश ने कहा ‘आठवले जी बहुत अच्छे मंत्री हैं. जब मैं सांसद था, तब सदन में उनसे ज्यादा मनोरंजन कोई और नहीं करता था.’ अपनी बात में आगे कहा, ‘अभी तो सिर्फ दो चुनाव के लिए सपा और बसपा का गठबंधन हुआ था. इतने से ही भाजपा को परेशानी हो गई. भाजपा ने पूरे देश में विभिन्न पार्टियों के साथ 45 गठबंधन किए हैं. जब हम 45 तक पहुंचेंगे तो भाजपा का क्या हाल होगा.’ विधान परिषद के आगामी चुनाव में सपा और बसपा के बीच तालमेल की संभावनाओं संबंधी सवाल पर अखिलेश ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया है. बता दें, अखिलेश ने भाजपा के शासनकाल में दलितों पर अन्याय बढ़ने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि योगी सरकार को प्रदेश की तरक्की के लिए काम करना चाहिए. लेकिन बीटीसी तथा बीपीएड डिग्रीधारियों और शिक्षामित्रों पर लाठीचार्ज किया गया. जिन लोगों की जान गई. उनके परिवारों की कोई मदद नहीं की गई. रिक्त पदों पर भर्ती के लिए सरकार रास्ता नहीं निकाल पा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here