केजरीवाल और बाकी AAP नेताओं ने मांगी माफी, क्या जेटली से अकेले लड़ेंगे कुमार विश्वास?

0
36

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डीडीसीए मामले में लगाए गए आरोपों के बाद अब केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से माफी मांग ली है. जेटली की ओर से इस मामले में मानहानि के केस दायर किया गया था. सीएम केजरीवाल के अलावा आम आदमी पार्टी नेता राघव चड्ढा, आशुतोष, संजय सिंह और दीपक वाजपेयी ने भी लिखित में अरुण जेटली को माफीनामा भेजा है. लेकिन अबतक पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास की ओर से इस मामले में माफीनामा नहीं दिया गया है जबकि उनके खिलाफ भी कोर्ट में मानहानि का केस दायर है. अरुण जेटली से केजरीवाल की माफी पर कुमार विश्वास ने कहा कि अरविंद केजरीवाल और अरुण जेटली के करीबियों ने उनसे संपर्क किया था लेकिन उन्होंने माफी मांगने ने इनकार कर दिया. कुमार का कहना है कि AAP पहले देश भर के कार्यकर्ताओं के खिलाफ चल रहे मुकदमों को ख़त्म कराए. केजरीवाल की माफी दर माफी अरविंद केजरीवाल ने सबसे पहले पंजाब के पूर्व मंत्री बिक्रिम सिंह मजीठिया से मांगी मांगी थी. इस बाद से लगातार अपने खिलाफ चल रहे मानहानि के मुकदमों से निजात पाने के लिए केजरीवाल, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल से भी माफी मांग चुके हैं. मजीठिया से मांगी गई माफी के बाद से ही कुमार विश्वास ने अपने नेता के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए उनपर बयान से पटलने के लिए निशाना साधा था. Dr Kumar Vishvas ✔ @DrKumarVishwas एकता बाँटने में माहिर है , खुद की जड़ काटने में माहिर है , हम क्या उस शख़्स पर थूकें जो खुद, थूक कर चाटने में माहिर है ! 😡👎 8:51 PM – Mar 15, 2018 30.4K 12.1K people are talking about this Twitter Ads info and privacy माफी से कुमार का इनकार कुमार विश्वास ने ट्वीट करते हुए लिखा था, ‘अभी एक केस और भी बचा है, इस लड़ाई को मैं जारी रखूंगा और अपने पर्सनल वकीलों के द्वारा ही लड़ूंगा.’ इस ट्वीट से साफ हो गया था कि भविष्य में कुमार AAP के संयोजक केजरीवाल की तरह किसी भी नेता से माफी नहीं मांगने जा रहे हैं. वित्त मंत्री अरुण जेटली के माफी के बाद उम्मीद है कि केजरीवाल और उनके नेताओं के खिलाफ चल रहा मानहानि का मुकदमा वापस ले लिया जाएगा. लेकिन कुमार माफी नहीं मांगी है तो उनके खिलाफ दायर केस आगे भी चलता रह सकता है. इस बीच दिल्ली हाई कोर्ट मे अरविंद केजरीवाल और जेटली के वकीलों ने मानहानि का केस वापस लेने के लिए अर्जी दायर कर दी है. कुमार विश्वास के नज़दीकियों ने ‘आजतक’ से बातचीत के दौरान बताया कि पिछले करीब एक महीने से आम आदमी पार्टी नेताओं ने अरुण जेटली से माफी मांगने के लिए विश्वास को साथ लेने की कोशिश की थी. साथ ही जेटली के करीबियों ने भी संपर्क किया था लेकिन कुमार विश्वास ने लिखित माफी मांगने से साफ मना कर दिया. कुमार विश्वास के करीबियों का कहना है कि आम आदमी पार्टी के हजारों कार्यकर्ताओं के केस खत्म किए जाने के बाद ही कुमार माफी मांगने के बारे में विचार करेंगे. ‘आप’ विधायक मदन लाल ने भी कुमार विश्वास की अपील से सहमति जताई है. कुमार विश्वास की अपील पर जब आप विधायक मदनलाल ने कहा कि वो ख़ुद वकील होने के नाते कई आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं के मामलों में कोर्ट जाते हैं और केस ख़त्म कराने की मदद भी करते हैं. केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली से माफी मांगने के सवाल पर ‘आप’ विधायक मदन लाल ने कहा कि बार-बार कोर्ट में जाने से वक़्त खराब होता है, और क्षमा मांगने वाला बहुत बड़ा होता है इसमें कोई बुराई नहीं है. आम आदमी पार्टी पर लोग भरोसा करना जानते हैं, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की माफी के बाद दिल्ली वालों में मान सम्मान बढ़ा है. क्यों किया मानहानि केस? आम आदमी पार्टी के नेताओं ने अरुण जेटली पर डीडीसीए के अध्यक्ष पद पर रहते हुए भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाए थे. इसके बाद वित्त मंत्री जेटली ने आप नेताओं के खिलाफ 10 करोड़ रुपए की मानहानि का केस दर्ज कराया था. जेटली ने केजरीवाल के अलावा आशुतोष, कुमार विश्वास, संजय सिंह, राघव चड्ढा और दीपक वाजपेयी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा किया था. अरविंद केजरीवाल और अरुण जेटली की कई बार कोर्ट में पेशी हो चुकी है. दोनों से सवाल जवाब भी हो चुके हैं. लेकिन अब तक इसका कोई निर्णय नहीं निकल सका है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here