दिल्ली में खतरनाक स्तर पर एयर क्वालिटी इंडेक्स, कब तक छाई रहेगी धूल?

0
19

राजस्थान से चल रही धूल भरी आंधी ने दिल्ली वालों का सांस लेना मुश्किल कर दिया है. धूल और धुंध का आलम यह है कि सूरज भी दिन में धुंधला दिखाई दे रहा है. दिल्ली से सटे नोएडा में तो हालात और भी खराब हैं.बुधवार को नोएडा में पीएम 10 का स्तर 1135 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर पहुंच गया है. मौसम विभाग का कहना है कि अगले तीन दिन तक इसी तरह के हालत दिल्ली-एनसीआर में बने रहेंगे.

मालूम हो कि दिल्ली में पीएम 10 का स्तर 981, पीएम 2.5 का स्तर 200, नोएडा में पीएम 10 का स्तर 1135 तो पीएम 2.5 का स्तर 444 है. जबकि गाजियाबाद में पीएम 10 का स्तर 922 और पीएम 2.5 का स्तर 458 है.

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर का मौसम खराब होने की वजह ईरान और दक्षिण अफगानिस्तान की तरफ से आ रही धुल भरी हवाएं हैं. जो 20 हजार फीट की ऊंचाई से राजस्थान से होते हुए दिल्ली में दस्तक दे रही हैं. इससे वातावरण में धूल छा गई है. अगले 4 दिन ऐसे ही रहेंगे दिल्ली में हालात रहेंगे.

हालांकि, मौसम विभाग का यह भी कहना है कि 16 जून के बाद दिल्ली वालों को गर्मी और धुल भरी आंधी से राहत मिल सकती है. क्योंकि दिल्ली में 16 जून से बारिश के आने का अनुमान है.दिल्ली में बुधवार को पिछले 8 साल में सबसे गर्म सुबह का रिकॉर्ड दर्ज किया गया. यहां न्यूनतम तापमान बढ़कर 34 डिग्री हो गया, जबकि सामान्य तापमान 6 डिग्री रहा.

रात 11:30 बजे तक पीएम 10 का स्तर किन इलाकों कितना है….पंजाबी बाग में PM 10 का स्तर 3414 है. द्वारका में PM 10 का स्तर 3249 है. इंडिया गेट के नज़दीक मेजर ध्यान चंद स्टेडियम पर PM 10  का लेवल 2762. विवेक विहार में PM का स्तर 1580 है. आनंद विहार में PM 10 का स्तर 1817 तक पहुंच गया है. जबकि पटपड़गंज में PM 10 का स्तर 3653 है.आज मौसम की समीक्षा सरकार द्वारा की जाएगी. यदि आज शाम तक प्रदूषण ऐसा ही रहा तो शाम से ट्रक, कंस्ट्रक्शन साइट्स पर कुछ दिनों के लिए रोक लगाईं जा सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here